बेहतर है, बहुत नींद में ख्वाब का जग जाना

बेहतर है, बहुत
नींद में ख्वाब का जग जाना
➖ ➖ ➖
जो हासिल न हुआ
सो न हुआ
कुछ होना तो बेहतर है कुछ न होने से,
कुछ तो बेहतर है
नींद में सही, किसी
ख्वाब के जग जाने से

जी! बेहतर है,
बहुत नींद में
ख्वाब का जग जाना
अफसोस, लेकिन कि
ऐसी नींद
उधार नहीं मिलती है।

जी बेहतर है बहुत,
नींद में ख्वाब का
जग जाना!

एक टिप्पणी भेजें