अब, मैं तो क्या सुनेगा मेरा मरा बाप

मैं तो क्या, सुनेगा मेरा मरा बाप!
➖➖➖➖
आप उस को जानते हैं?
वह कविता लिखता है
हिंदी में!

नहीं, मैं नहीं जानता! क्यों?

वह अच्छा लिखता है, हिंदी में!

अच्छा, वह लिखता है! हिंदी में!
क्या खाक लिखता है?
बकवास!

लेकिन,
आप तो उसे जानते नहीं हैं!

छोड़िये,
हिंदी में जानना राजनीतिक पद है।
आप मेरी कविता सुनिये!

जी।

मेरा दुख है भरा तबादला।
आया था कल आज चला।

जी मैं मैं नीर भरी....

छोड़िये, ये मैं मैं.!
हिंदी में न सुनना राष्ट्र द्रोह है!
अब! सुनेंगे आप!

अब मैं तो क्या,
सुनेगा मेरा मरा बाप!

आप भले आदमी हैं!
आगे सुनिये, सुनते जाइये! कैसा!

एक टिप्पणी भेजें