सोमवार, 9 जून 2014

नदी रात भर

नदी रात भर
▬▬▬▬▬


मैं बड़ा बेचैन हो जाता हूँ
जब बंद कमरे और अधमरे सपने में घुसकर
कोई ईमानदार हवा बाँचने लगती है
रात का समाचार!

रात का समाचार कि
नदी रात भर
जंगल के लिए बिछी रहती है!
एक टिप्पणी भेजें